“मैं ब्राह्मण हूं, कभी भी हो सकता है एनकाउंटर ” कहने वाले बाहुबली विधायक विजय मिश्रा गिरफ्तार

News Desk
vvidhayak vijay mishra : Metro India News
Read Time:4 Minute, 48 Second

Metro India News : बाहुबली विधायक विजय मिश्रा को आगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यूपी के भदोही जिले के ज्ञानपुर से विधायक विजय मिश्रा के साथ उनके कुछ गुर्गों को भी हिरासत में लिया गया है। हालांकि पुलिस के अधिकारी इसे लेकर कुछ भी बात करने को तैयार नहीं हैं। पुलिस ने इनसे गुप्त स्थान पर पूछताछ कर रही है। ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्रा पर 73 के करीब मामला दर्ज है। ये वही विधायक साहब है जिन्होने पहले ही सोशल मीडिया में इस बात की घोसना करवा दिया था कि मै ब्राह्मण हू और मुझे डर है कि उत्तर प्रदेश पुलिस मेरा एनकाउंटर करवा सकती है.

उत्तर प्रदेश में आए दिन हो रहे पुलिस एनकाउंटर से अपराधी पूरी तरह से भयभीत हैं। एनकाउंटर को लेकर जनप्रतिनिधि भी डरे हुए हैं। ऐसे में भदोही से विधायक के बाहुबली विधायक विजय मिश्रा ने एक वीडियो जारी कर अपनी हत्या की आशंका जताई थी. उन्होंने कहा था कि ब्राह्मण होने के नाते उन्हें परेशान किया जा रहा है और पुलिस कभी भी उनका एनकाउंटर कर सकती है। विजय मिश्रा निषाद पार्टी के टिकट पर चुनाव जीते थे, बाद में उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी।

और आज कुछ कुछ ऐसा ही हुआ है. जानकारी के अनुसार यूपी पुलिस की सूचना पर एमपी पुलिस ने विजय मिश्रा को गिरफ्तार किया है। कोतवाली पुलिस ने उनसे गुप्त स्थान पर पूछताछ कर रही है। विजय मिश्रा 8 अगस्त से फरार चल रहे थे। जानकारी के अनुसार विधायक विजय मिश्रा, उनकी पत्नी और बेटे पर एक रिश्तेदार ने ही मामला दर्ज करवाया था। विजय मिश्रा निषाद पार्टी से चुनाव जीते हैं।

विजय मिश्रा ने कहा कि मेरी पत्नी रामलली और बेटे विष्णु को फर्जी मामले में फंसाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि ब्राह्मण होने के नाते उन्हें परेशान किया जा रहा है, क्योंकि वो ब्राह्मण होकर चार बार से विधायक हैं। विजय मिश्रा यह कहते दिख रहे थे कि उनके साथ ये सब इसलिए हो रहा है ताकि बनारस या चंदौली का कोई माफिया यहां आकर चुनाव लड़ सके। बलिया के किसी बेटे को चुनाव लड़ने की बात भी कर रहे हैं, इसीलिए उनकी हत्या कराई जा सकती है।

दरअसल, यूपी के भदोही जिले के ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्र पर 7 अगस्त को एक मुकदमा दर्ज हुआ था। विधायक के रिश्तेदार ने धनापुर गांव निवासी कृष्णमोहन तिवारी ने जबरन घर में रहने और वसीयत बनाकर उनकी संपत्ति अपने बेटे के नाम कराने के लिए दबाव बनाने के आरोप में विधायक, उनकी पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा और पुत्र विष्णु मिश्र पर गोपीगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

वहीं, भदोही एसपी रामबदन सिंह ने उस वक्त कहा था कि तिवारी ने थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया है कि विधायक उन्हें डरा-धमकाकर और बंधक बनाकर उनके धनापुर स्थित मकान में जबरन रहते हैं। साथ ही वसीयतनामा बनवाकर उनकी सारी संपत्ति अपने बेटे विष्णु मिश्रा के नाम करवाने के लिए दबाव बना रहे हैं। वहीं, मुकदमा लिखाने वाले को पुलिस ने सुरक्षा भी दी है।

वहीं, यूपी पुलिस विधायक और उनके लोगों को लेने के लिए आगर आ सकती है। फिलहाल आगर पुलिस मीडिया के सामने लेकर उन्हें आई है। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले यूपी का कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे भी उज्जैन से गिरफ्तार हुआ था। आगर भी उज्जैन से सटा हुआ जिला है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *