Rahat Indori : मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन

News Desk
rahat indori - metro india news
Read Time:4 Minute, 6 Second

जुबां तो खोल, नजर तो मिला, जवाब तो दे, मैं कितनी बार लुटा हूँ, हिसाब तो दे.

Metro India News – तान के सीना उपर वाले से ये पुछ्ने की हिम्मत अगर किसी ने की तो वो थे मशहूर शायर राहत इंदौरी साहब. उनकी लिखी ये चन्द लाइने तो यही बता रही है कि जवाब ना मिलने पर शायद राहत इंदौरी साहब उपर वाले से रूबरू होकर अब पूछे. मेट्रो इंडिया न्यूज़ बड़े दुख के साथ ये खबर प्रकाशित कर रहा है क़ी मशहूर शायर राहत इंदौरी साहब अब हमारे बीच नही रहे.

मशहूर शायर राहत इंदौरी का मंगलवार को निधन हो गया। वह 70 साल के थे। वह कोरोना पॉजिटिव थे. उन्हें इलाज के लिए श्री अरबिंदो अस्पताल इंदौर में भर्ती कराया गया था।

श्री अरबिंदो अस्पताल के डॉ विनोद भंडारी ने बताया कि उर्दू कवि राहत इंदौरी का निधन अस्पताल में हुआ। उन्हें आज दो बार दिल का दौरा पड़ा और उन्हें बचाया नहीं जा सका। कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें रविवार को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें 60 फीसदी निमोनिया था।

हम आपको बता दें कि आज यानी मंगलवार को ही राहत इंदौरी ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी कि उन्होंने कोरोना टेस्ट कराया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई और वह फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं। राहत इंदौरी ने मंगलवार सुबह ट्वीट कर कहा था कि कोविड के शुरुआती लक्षण दिखाई देने पर कल मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। ऑरबिंदो हॉस्पिटल में एडमिट हूं। दुआ कीजिये जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं।

उन्होंने उसी ट्वीट में अपने फैन्स से एक गुहार लगाई और कहा, ‘एक और इल्तेजा है, मुझे या घर के लोगों को फ़ोन ना करें, मेरी खैरियत ट्विटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी।’ बता दें कि इस सूचना के बाद ट्विटर पर उनके फैन्स उनकी सलामती की दुआ कर रहे हैं।

बता दें कि राहत इंदौरी उर्दू के मशहूर शायर होने के साथ ही बॉलीवुड के चर्चित संगीतकार थे. 1 जनवरी 1950 को राहत साहब का जन्म हुआ था. वह दिन इतबार का था और इस्लामी कैलेंडर के अनुसार ये 1369 हिजरी थी और तारीक 12 रबी उल अव्वल थी. इसी दिन रिफअत उल्लाह साहब के घर राहत साहब की पैदाइश हुई जो बाद में हिन्दुस्तान की पूरी जनता के मुश्तरका ग़म को बयान करने वाले शायर हुए. उनके वालिद एक कपड़ा मिल में काम करते थे. उनकी मां का नाम मकबूल उन निसा बेगम था. उन्होंने इंदौर के नूतन स्कूल से 10वीं की परीक्षा पूरी की. इसके बाद इंदौर के ही इस्लामिया करीमिया कॉलेज से उन्होंने स्नातक और भोपाल की बरकतुल्लाह यूनिवर्सिटी से उर्दू में स्नातकोत्तर किया.

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

"मैं ब्राह्मण हूं, कभी भी हो सकता है एनकाउंटर " कहने वाले बाहुबली विधायक विजय मिश्रा गिरफ्तार

Metro India News : बाहुबली विधायक विजय मिश्रा को आगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यूपी के भदोही जिले के ज्ञानपुर से विधायक विजय मिश्रा के साथ उनके कुछ गुर्गों को भी हिरासत में लिया गया है। हालांकि पुलिस के अधिकारी इसे लेकर कुछ भी बात करने को तैयार नहीं […]
vvidhayak vijay mishra : Metro India News